BREAKING NEWS
post viewed 57 times

नरेश अग्रवाल: 21 साल पहले भी बने थे BJP के खेवनहार, मायावती को बताया था PM मैटेरियल

212106-naresh-agarwal

राज्यसभा सदस्य नरेश अग्रवाल समाजवादी पार्टी (सपा) छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए हैं. वरिष्ठ राजनेता नरेश अग्रवाल करीब 38 साल से राजनीति में हैं और अब तक चार राजनीतिक दलों में रह चुके हैं.

 नई दिल्ली: राज्यसभा सदस्य नरेश अग्रवाल समाजवादी पार्टी (सपा) छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए हैं. वरिष्ठ राजनेता नरेश अग्रवाल करीब 38 साल से राजनीति में हैं और अब तक चार राजनीतिक दलों में रह चुके हैं. इसके अलावा वह एक बार खुद की भी पार्टी बना चुके हैं. यूपी की राजनीतिक गलियारे में इनकी पहचान समय का रुख भांपकर पाला बदलने की रही है. माना जा रहा है कि बीजेपी उन्हें 2019 के लोकसभा चुनाव में हरदोई से उतार सकती है.

हरदोई के रहने वाले 67 साल के नरेश चंद्र अग्रवाल पहली बार 1980 में हरदोई से कांग्रेस के टिकट पर विधायक बने थे. सात बार विधायक चुने जा चुके नरेश सियासत की सौदेबाजी में कभी घाटे में न रहे. 1997 में उन्होंने कांग्रेस के कई विधायकों को साथ लेकर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक कांग्रेस का गठन किया और विश्वास मत हासिल करने में कल्याण सिंह का साथ दिया. इस सहयोग के बदले वह कल्याण, राम प्रकाश गुप्ता, राजनाथ सिंह सरकार में प्रदेश में ऊर्जा मंत्री रहे.

  1. 38 साल के राजनीतिक करियर में 5 पार्टियों में रह चुके हैं नरेश अग्रवाल
  2. हरदोई से 7 बार विधायक और सांसद भी रह चुके हैं नरेश अग्रवाल
  3. 1997 में कांग्रेस के विधायकों को तोड़कर बनाई थी पार्टी, बीजेपी का किया था सपोर्ट

मुलायम के करीबी आए नरेश अग्रवाल
साल 2000 में यूपी में बीजेपी जहां ढलान पर थी और समाजवादी पार्टी (सपा) मजबूत होती दिख रही थी. मुलायम सिंह यादव का राजनीतिक कद बढ़ता देख नरेश अग्रवाल उनके साथ हो गए थे. 2002 का चुनाव उन्होंने सपा के टिकट पर लड़ा और मुलायम सिंह यादव के कार्यकाल में परिवहन मंत्री भी बने.

मायावती का कद बढ़ता देख मुलायम की पार्टी से तोड़ा नाता
साल 2007 में नरेश अग्रवाल हरदोई से सपा के टिकट पर विधायक बने, लेकिन राज्य में सरकार बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की बनी. मौका देखते ही नरेश अग्रवाल ने मई 2008 में सपा से नाता तोड़कर मायावती के साथ हो लिए. बीएसपी ने उन्हें टिकट नहीं दिया, जिसके बाद वह 2012 में बेटे के साथ समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए. सपा ने 2012 में उन्हें राज्यसभा भेजा और अक्टूबर में आगरा में हुए अधिवेशन में उन्हें राष्ट्रीय महासचिव भी बनाया गया था.

पाला बदलने पर कुछ यूं बयान देते रहे हैं नरेश अग्रवाल
2008 में BSP में शामिल होते वक्त कही ये बात: अब पूरा राजनीतिक जीवन बहनजी को अर्पित कर रहा हूं. अपना बेटा उन्हें सौंप रहा हूं. मायावती भावी पीएम ही नहीं देश की कर्णधार हैं.

2011 में SP ज्वाइन करते वक्त कही ये बात: चार साल बाद खुद को राजनीतिक रूप से आजाद महसूस कर रहा हूं. जब तक मुलायम सिंह यादव को सीएम नहीं बना लेता, चैन से नहीं बैठूंगा.

2018 बीजेपी में शामिल होते पीएम का किया गुणगान: मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रभावित हूं. सीएम योगी से भी प्रभावित हूं. सरकार जिस तरह से काम कर रही है, पीएम के नेतृत्व में उनके साथ होना चाहिए.

Be the first to comment on "नरेश अग्रवाल: 21 साल पहले भी बने थे BJP के खेवनहार, मायावती को बताया था PM मैटेरियल"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*