BREAKING NEWS
post viewed 60 times

आज भी इंडिगो और गो एयर की 65 उड़ानें रद्द, टिकट भी हुआ महंगा

indigo

इन विमानों में एक खास सीरीज के प्रैट एंड व्हिटनी इंजन लगे हैं, जिनमें उड़ान के दौरान ही बंद होने की शिकायत आ रही थी. बीते एक महीने से भी कम वक्त में तीन बार इन इंजनों ने बीच आसमान में ही काम करना बंद कर दिया

 नई दिल्ली: बजट एयरलाइंस इंडिगो और गोएयर ने आज अपनी लगभग 65 उड़ानें रद्द की हैं. दोनों कंपनियों ने यह कदम नागर विमानन महानिदेशालय ( डीजीसीए) द्वारा उनके11 ए-320 नियो विमानों के उड़ान भरने पर रोक के चलते उठाया है. बता दें कि  इंडिगो (Indigo) के आठ और गो एयर (GoAir) के तीन विमानों में प्रैट एंड व्हिटनी के खराब इंजन के चलते उन्हें खड़ा रखने के निर्देश दिए गए हैं. रोजाना 1,000 उड़ानों का परिचालन करने वाली इंडिगो ने अपनी वेबसाइट पर जानकारी दी है कि 13 मार्च को उसकी घरेलू नेटवर्क की 47 उड़ानें रद्द की गई हैं. वहीं वाडिया समूह द्वार प्रवर्तित गोएयर की 18 उड़ानें रद्द हुई हैं.  रद्द हुई उड़ानों के यात्रियों के अन्य उड़ानों पर टिकटें बुक कराने से किराए महंगे हुए.

गोएयर ने एक बयान में कहा कि उसकी आठ शहरों से संचालित होने वाली 18 उड़ानें रद्द हुई हैं. कंपनी रोजाना 230 उड़ानों का परिचालन करती है. इंडिगो की उड़ानें दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, कोलकाता, हैदराबाद, बेंगलुरु, पटना, श्रीनगर, भुवनेश्वर, अमृतसर और गुवाहाटी इत्यादि स्थानों से हैं. इंडिगो ने मीडिया के लिए जारी एक बयान में कहा कि प्रभावित हुए यात्रियों को बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के दूसरा विमान पकड़ने या रद्दीकरण शुल्क काटे बिना पूरा पैसा वापस लेने का विकल्प दिया गया है.

इंडिगो ने कहा, ‘इंडिगो ने डीजीसीए के निर्देशानुसार अपने विमानों को खड़ा कर दिया है. उसने यह निर्देश सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जारी किए थे.’ कल इंडिगो की लखनऊ जा रही एक उड़ान के 40 मिनट के भीतर ही अहमदाबाद लौट आने के बाद डीजी मुसीए ने व्हिप जारी किया था. इस उड़ान के दौरान विमान का इंजन खराब हो गया था. सुरक्षा कारणों को ध्यान में रखते हुए डीजीसीए के निदेशक ने 12 मार्च को कंपनी के उन ए-320 नियो विमानों को तत्काल उड़ान भरने से रोक दिया जिनमें पीडब्ल्यू1100 इंजन लगे हुए हैं.

Be the first to comment on "आज भी इंडिगो और गो एयर की 65 उड़ानें रद्द, टिकट भी हुआ महंगा"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*