1998 में पहली बार सांसद बने थे योगी

29 साल बाद ऐसा पहली बार होगा जब गोरखपुर का सांसद गोरक्षपीठ का महंत (मठाधीश) नहीं होगा. अवैद्यनाथ के निधन के बाद योगी आदित्यनाथ मठ के साथ-साथ उनके राजनैतिक उत्तराधिकारी के रूप में सामने आए थे. साल 1998 के उपचुनाव में योगी आदित्यनाथ पहली बार संसद पहुंचे थे.

उन्होंने साल 1999, 2004, 2009 और 2014 के लोकसभा चुनाव में भी इस सीट पर विजयी पताका फहराया. साल 2017 में हुए यूपी विधानसभा में बीजेपी की बड़ी जीत के बाद योगी आदित्यनाथ सीएम बने, जिससे यह सीट खाली हो गई और उपचुनाव हुए.