BREAKING NEWS
post viewed 84 times

सिद्धू ने मनमोहन से मांगी माफी, कहा- मैंने गंगा नहा ली, आप सरदार असरदार दोनों

navjot_singh_sidhu_1521374474_618x347

कांग्रेस महाधिवेशन के दूसरे दिन नवजोत सिंह सिद्धू ने अपने भाषण से अलग ही समां बाधा. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से माफी मांगते हुए पंजाब के कांग्रेस नेता नवजोत सिद्धू ने कहा कि मुझे आपको पहचानने में 10 साल का समय लगा. मैं माफी मांगता हूं. मैंने गंगा नहा ली सर, आपके चरणों में सर रखकर… आप सरदार हैं और असरदार भी.

मनमोहन की तारीफ करते हुए सिद्धू ने कहा कि जो आपके मौन ने कर दिखाया, वो बीजेपी का शोर शराबा नहीं कर पाया. ये बात मुझे दस साल बाद समझ आई. यही नहीं सिद्धू ने कहा कि कांग्रेस हारी होगी तो किसी लीडर की वजह से, तुम्हारी वजह से नहीं, तुम तो सिकंदर हो, तुम तो शेरों के शेर बब्बर शेर हो. तुम कभी एक्स नहीं होते, तुम यानी कार्यकर्ता.

सिद्धू ने कहा-

अँधेरा बहुत, अब सूरज निकलना चाहिए

जो चेहरे निकलते हैं नकाबों के साथ,

उनका जनाजा निकलना चाहिए

नवजोत ने कहा कि अगले साल राहुल भाई लालकिला से तिरंगा फहराएगा. ये तय है. बीजेपी वाले बांस की तरह लंबे हैं, लेकिन अंदर से खोखले हैं. हमारा राहुल भाई गन्ने की तरह अंदर-बाहर से मिट्ठू मिट्ठू. उन्होंने कहा कि जब तक मेरी धमनियों में लहू है, राहुल भाई लाल किले से झंडा फहराएं इसकी खातिर पूरी कोशिश करूंगा.

 सिद्दू ने कहा कि एक एक्टर जनता को तीन घंटे बेवकूफ बनाता है, पर बीजेपी वाले लगातार बेवकूफ बनाते हैं.

खुद के कांग्रेस में आने के बारे में बताते हुए सिद्धू ने कहा कि प्रियंकाजी का धन्यवाद, उनसे एक बार मिला तो मैं यहां आया वरना अपने योग में ही लीन रहता. अभिनेता सनी देयोल के डॉयलॉग की तर्ज पर सिद्धू ने कहा कि बीजेपी वाले झूठ पे झूठ कहते हैं.

अपना संबोधन खत्म करते हुए उन्होंने कहा- बात खतम खटाक…

कांग्रेस में आने से पहले मनमोहन को बताया था- ‘पप्पू प्रधानमंत्री’

बता दें कि 2014 के चुनावों के समय बीजेपी में रहे सिद्धू ने मनमोहन सिंह की आलोचना करते हुए उन्होंने मजबूत प्रधानमंत्री बताया था. उन्होंने कहा था कि एक मजबूत आदमी कभी नेता नहीं हो सकता. सिद्धू ने मनमोहन को भ्रष्टाचारी सरकार का ईमानदार प्रधानमंत्री बताते हुए कहा था कि जो मंत्री जितना बड़ा चोर है, उसे उतने बड़े पद से नवाजा गया.

साल 2013 में पंजाब की एक रैली में सिद्धू ने मनमोहन सिंह को पप्पू प्रधानमंत्री और रबड़ के गुड्डे जैसा बताया था. उस समय उन्होंने कहा था कि जिस तरह महंगाई ने लोगों का जीना मुहाल कर दिया है, उससे तो लगता है कि वह अर्थशास्त्री नहीं, अनर्थ-शास्त्री हैं.

Be the first to comment on "सिद्धू ने मनमोहन से मांगी माफी, कहा- मैंने गंगा नहा ली, आप सरदार असरदार दोनों"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*